59 Chinese App Banned In India Including Tiktoc

चीनी ऐप भारत में प्रतिबंधित| चीनी ऐप बैन | 59 चीनी एप पर प्रतिबंध | tictok भारत में प्रतिबंधित | शेयरचैट ऐप भारत में प्रतिबंधित | भारत में प्रतिबंधित ऐप्स की सूची

चीनी ऐप भारत में प्रतिबंधित

भारत में प्रतिबंधित चीनी ऐप: भारत सरकार ने TicTok को 59 चीनी अनुपयोगी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार का ऐसा कहना है कि यह सभी ऐप यूजर्स का डेटा चुरा के भारत की गोपनीयता सुरक्षा को बचाने कर रहा है। भारत बालना बॉर्डर पर तनातनी का माहौल बना हुआ है और इसी के मध्य में यह निर्णय सरकार ने लिया है।

चीनी ऐप भारत में प्रतिबंधित

Shareit, UC Brouser और Shopping Club Factory और ऐसे कई अन्य प्रमुख ऐप में शामिल है जिसमें जिन पर सरकार ने पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।]सरकार ने अपनी तरफ से यह तर्क दिया है कि यह एप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संपूर्ण संप्रभुता और अखंडता भारत की रक्षा राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिएone है।

सरकार ने इस सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 ए के तहत सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम से संबंधित प्रक्रिया और सुरक्षा उपायों को सामूहिक रूप से प्रवेश करने की प्रक्रिया के लिए नियम 2009 के तहत बढ़ाने पर अपनी शक्ति पर प्रतिबंध लगा दिया है।

टिक टॉक भारत में प्रतिबंधित

भारत में टिक टोक

भारत का यह कदम चीन की डिजिटल स्केल रूट की इंपार्टेंट चीजों के लिए एक बड़ा झटका बन सकता है। जिससे बालना की कंपनियों के मूल्यांकन से लाखों डॉलर का नुकसान होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक इन एप्स के खिलाफ भारत के रास्ते में और भी देश आगे बढ़ रहे थे। इसीलिए भारत सरकार ने यह कदम उठाया है।

सरकार ने यह फैसला लेने से पहले सभी पहलुओं पर विचार किया है ऐसा भारत सरकार के मंत्रियों का कहना है कि यह ऐप लंबे समय से है और उनके साथ कुछ गोपनीयता और सुरक्षा के मुद्दे से जुड़े कुछ नियमों का उल्लंघन कर रहे थे जिससे देश के बाहर जाने वाला था। डेटा जो कि जोखिम में शामिल है इस सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने यह कदम उठाया है।

भारत में प्रतिबंधित चीनी ऐप: इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी इलेक्ट्रॉनिक्स ऑफ इंडिया के बयान में कहा गया है। कि उसे विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं जिनमें कई मोबाइल ऐप के दुरुपयोग के बारे में Android और IOS मंच पर उपलब्ध डेटा चोरी करने के उपयोगकर्ताओं के डेटा को अनधिकृत तरीके से प्रसारित करने के बारे में जानकारी मिली है और इन सभी एप्स के सर्वर भारत के बाहर स्थित है।

ये APPS के आंकड़े का संकलन भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा के लिए शत्रुता पूर्ण तत्वों द्वारा इसके खनन और प्रोफाइलिंग जो अंतिम भारत की संप्रभुता और अखंडता पर खतरा है और इसी तरह की बहुत गहरी और तत्काल चिंता का विषय बना हुआ है: आपातकालीन उपाय आवश्यकता है ऐसी भारत सरकार का कहना है।

भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र गृह मंत्रालय ने भी इस दुर्भावनापूर्ण सामान को अवरुद्ध करने के लिए एक पूरी सिफारिश भेजी है, यहां प्रतिबंधित उपकरणों की पूरी सूची दी गई है।

चीनी ऐप भारत में प्रतिबंधित

1. टीकटॉक
2. शेयर
3. क्वाई
4. यूसी ब्राउज़र
5. Baidu मानचित्र
6. शी
7. राजाओं का टकराव
8. डीयू बैटरी सेवर
9. हेलो
10. जैसे
11. आप मेकअप
12. एम आई समुदाय
13. सीएम ब्राउनर्स
14. वायरस क्लीनर
15. APUS ब्राउज़र
16. ROMWE
17. क्लब फैक्टरी
18. न्यूज़डॉग
19. बीट्री प्लस
20. वीचैट
21. यूसी न्यूज़
22. QQ मेल
23. वीबो
24. Xender
25. QQ संगीत
26. क्यूक्यू न्यूज़फीड
27. बिगो लाइव
28. सेल्फीसिटी
29. मेल मास्टर
30. समानांतर स्थान
31. Mi वीडियो कॉल – Xiaomi
32. WeSync
33. ES फ़ाइल एक्सप्लोरर
34. चिरायु वीडियो – क्व वीडियो इंक
35. मीतू
36. विगो वीडियो
37. नई वीडियो स्थिति
38. डीयू रिकॉर्डर
39. तिजोरी- छिपाना
40. कैश क्लीनर डीयू ऐप स्टूडियो
41. डीयू क्लीनर
42. डीयू ब्राउज़र
43. नए दोस्तों के साथ हैगो प्ले
44. कैम स्कैनर
45. क्लीन मास्टर – चीता मोबाइल
46. ​​वंडर कैमरा
47. फोटो आश्चर्य
48. क्यूक्यू प्लेयर
49. हम मिलते हैं
50. मीठी सेल्फी
51. Baidu अनुवाद
52. व्योम
53. क्यूक्यू इंटरनेशनल
54. QQ सुरक्षा केंद्र
55. QQ लॉन्चर
56. यू वीडियो
57. वी फ्लाई स्टेटस वीडियो
58. मोबाइल लीजेंड
59. ड्यू गोपनीयता

डेटा सिक्योरिटी भी एक सबसे बड़ा पहलू माना जा रहा है और 130 करोड़ भारतीयों की निजता की सुरक्षा को लेकर चिंता बढ़ गई है इसी के साथ कहा गया है कि इस तरह की गतिविधियों से हमारे देश की संप्रभुता और सुरक्षा को खतरा पैदा हो रहा है इसलिए ये सभी उपकरण को बंद करने का निर्णय लिया गया है।

ये सभी ऐप का बहिष्कार करें और चाइनीज चीजें लेने से भारत में बनी चीजों का ही उपयोग करें ताकि भारत का पैसा भारत में रहे।

Updated: June 29, 2020 — 11:09 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *