MP E Uparjan 2020- 21| किसान ऑनलाइन पंजीयन,mpeuparjan.nic.in Portal

एमपी ई उपार्जन पोर्टल 2020-21 ऑनलाइन पंजीकरण | मध्य प्रदेश E Uparjan योजना | mpeuparjan.nic.in पोर्टल किसान पंजीकरण | मध्य प्रदेश ई उपार्जन पोर्टल किसान पंजीयन फॉर्म

सांसद ई उपरजन नाम के पोर्टल को राज्य के किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना के तहत राज्य सरकार से मध्य प्रदेश के जो किसान रबी सीजन के दौरान समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद (किसान रबी सीजन के दौरान समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदना चाहते हैं) चाहते हैं कि उनके लिए एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को 1 फरवरी 2020 तक से शुरू कर (एमपीई ईयरिंग्स पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया 1 फरवरी 2020 से शुरू हुई।) दी गयी है। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी सरकार द्वारा तय समर्थन मूल्य पर अपनी फसल बेचना चाहते हैं तो उन्हें यह एमपी ई अपर्जन 2020- 21ऑफलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा

एमपी ई उपार्जन पोर्टल 2020-21

आपको बता दे पिछली वर की तरह इस वर्ष भी पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन की जाएगी लेकिन इस वर्ष ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया में कुछ बदलाव किए गए है। पिछले वर्ष एमपी ई उपार्जन पर ऑनलाइन पंजीकरण केवल कृषि उपज मंडी के माध्यम से होता था। जिसकी वजह से बहुत से किसानो को बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता था।लेकिन अब मध्य प्रदेश के सभी किसान घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से अपने आप ही एमपी ई उपार्जन पोर्टल 2020-21 ऑनऑनलाइन पंजीकरण कर सकता है। राज्य के जो किसान इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो वह जल्द ही जल्द ही ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करा लेगा।

जे किसान फसल ऋण योजना 2020

एमपी ई अपर्जन 2020- 21 हाइलाइट्स

योजना का नाम

एमपी ई अपर्जन 2020- 21

उनके द्वारा शुरू की गयी

मध्य प्रदेश सरकार

लाभार्थी

राज्य के किसान भाई

पोर्टल पोर्टल लॉन्च ’
  तारीक

1 फरवरी 2020

ऑफिसियल वेबसाइट

mpeuparjan.nic.in

एमपी ई अपर्जन 2020- 21 का उद्देश्य

पिछले साल कृषि मंडी के द्वारा जो ऑफ़लाइन प्रक्रिया की गयी थी उसकी वजह से मध्य प्रदेश के किसानो बहुत सी कठिनाइयों का सामान खरना पड़ा और राज्य के कुछ किसान पंजीकरण नहीं कर पाए। और उन्हें समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर अपनी फसल बेचनी पड़ी .jiski कारण से किसानो को काफी नुकसान हुआ। इस समस्या को हल करने के लिए राज्य सरकार ने इस बार मध्य प्रदेश में किया MP E Uparjan पोर्टल 2020- 21 के ज़रिये पूरी पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। इस वर्ष राज्य के किसान ई-उपार्जन के लिए सार्वजनिक डोमेन में ई-प्रचारक पंजीकरण पंजीकरण केंद्रों में अपना पंजीकरण होगा। इससे वह घर बैठे ई-प्रोक्योरमेंट मोबाइल एप के माध्यम से पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी तरह से करेगा।

एसएसएसएम आईडी

मध्य प्रदेश ई। उपार्जन पोर्टल 2020-21 का लाभ

  • इस पोर्टल पर राज्य के लोग घर बैठे अपने कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से आसानी से ऑफ़लाइन पंजीकरण कर सकते हैं ई
  • इस योजना का लाभ राज्य के सभी किसान भाई उठा सकते हैं।
  • राज्य के किसान मोबाइल पर ऐप डाउनलोड करके भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • मध्य प्रदेश ई। उपार्जन पोर्टल 2020-21 के माध्यम से किसानो को पंजीकरण करने में कोई परेशानी नहीं होगी।
  • ऑफ़लाइन पोर्टल के प्रारंभ होने से लोगो के समय की भी बचत होगी।
  • न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर गेहूं बेचने के लिए किसान को इस बार वह तीन तारीखें भी बतानी होगी, जिसमें अनाज के बारे में वह केंद्र में होगा।

मध्य
प्रदेश ई-उपार्जन पोर्टल 2020-21 पर पंजीकरण के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश

मध्य
प्रदेश प्रदेश जो किसान
भाई इस ई उपार्जन
पोर्टल पर पंजीकरण करना
चाहते हैं तो उन्हें
कुछ बातो का पर
ध्यान दे जो होगा
हमने नीचे दिया
हुआ है।

  • इस
    वर्ष मध्य प्रदेश की
    सभी किसान अपना आधार कार्ड
    नंबर और समग्र आईडी
    । माध्यम से पंजीकरण कर रहा है
    कर सकते हैं।
  • यदि
    आपको समग्र आईडी नहीं है
    तो आप इस पोर्टल को
    नहीं पंजीकरण नहीं कर सकता
    उसके लिए आप पहले
    समग्र आईडी के लिए
    आवेदन करना होगा
  • पंजीयन
    । आधार OR
    समग्र आई डी का
    होना अनिवार्य है।
  • आवेदक
    ऑनलाइन पंजीकरण करना
    समय अपने द्वारा दर्ज
    । बैंक खाता
    जानकारी की जांच करना चाहिए
    चाहिए।
  • मध्य
    प्रदेश ई-उपार्जन पोर्टल 2020-21 पर पंजीकरण के लिए
    मोबाइल नंबर अनिवार्य होना
    है। यह पंजीकरण प्रक्रिया
    । पूरा करने के लिए
    के लिए, आपका मोबाइल नंबर
    आधार से जुड़ा होना
    चाहिए।
  • पंजीकरण
    के बाद आप एक रसीद
    दी इसको तुम संभल जाओगे
    कर रखनी होगी .पंजीयन
    ात् पश्चाताप, पावती प्रिंट करें और करें
    । समय पावती ले
    अनिवार्य है।

एमपी ई उपार्जन
2020 -21 पंजीकरण 2020
दस्तावेज़
(
पात्रता)

  • आवेदक
    की कुल
    आईडी
  • निवास
    प्रमाण पत्र
  • आधार
    कार्ड
  • बैंक
    खाता रखने वाला
  • ऋणपुस्तिका
  • मोबाइल
    नंबर
  • पासपोर्ट
    साइज फोटो

MP E Uparjan 2020- 21 पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कैसे होगा?

राज्य
के इच्छुक लाभार्थी अपना ऑनलाइन पंजीकरण
करना चाहते हैं तो वह
नीचे दिए गए तरीके
को असफलता।

  • सर्वप्रथम आवेदक को एमपी ई उपार्जन की सरकारी वेबसाइट पर जाना होगा ।ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
MP E Uparjan पोर्टल
  • यह होम पेज आप पर आरबी 2020 -21 का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर आगे का पेज खुल जाएगा।
किसान अनिल रेगियन
मध्य प्रदेश ई उपरजान
  • इसके बाद दिए गए सभी दिशा निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ा जाए और फिर आप खुद अपना मोबाइल नंबर, किसान कोड या समाग्रा आईडी डालनी होगी इसके पश्चात आपको खोज के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • खोज के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगले पेज पर पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। पंजीकरण फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे अपना बैंक खाता विवरण, भूमि के स्वामित्व का विवरण और खरीद केंद्र का विवरण जैसे दर्ज करना होगा।
  • सही जानकरी भरने के बाद आपको प्रेष के बटन पर क्लिक करना होगा ।सफल पंजीकरण के बाद आपको तुरंत आवेदन संख्या और पावती मिल जाएगी।
  • केवल इस पावती संख्या से ही आप अपने उत्पाद को खरीद केंद्र पर ले जा सकते हैं और एक बेंच प्राप्त कर सकते हैं। जिस तरह से आपका पंजीकरण हो जाएगा।

एमपी ई अपर्जन 2020- 21 मोबाइल ऍप डाउनलोड कैसे करे ?

  • सबसे
    पहले आपको मोबाइल के
    गूगल प्ले स्टोर पर
    जाना होगा। उसके
    आपको यहाँ “एम.पी.
    e uparjan ”लिखकर सर्च करना है।
  • इसके
    बाद में आपने सुपरफूड किया
    ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल करें
    होगा।
  • इस
    प्रकार इस मोबाइल उपकरण
    की मदद से आप
    अन्य सभी सहित आर.बी.आई.
    फसलों के लिए पंजीकरण
    कराकर लाभ प्राप्त करना
    सकेंगे।
  • आप
    ई उपार्जन पोर्टल परजाकर
    अपने भी
    मोबाइल नंबर और समग्र आईडी
    नंबर डालकर मोबाइल ऐप डाउनलोड करना
    । सूची प्राप्त की
    कर सकते हैं

महत्वपूर्ण लिंक

Updated: May 23, 2020 — 9:00 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *