MP Pashudhan Bima Yojana Apply

सांसद पशुधन बीमा योजना | एमपी 3 बीमा योजना 2021 | ऑनलाइन आवेदन, पशुपालक इनशुरन्स प्रीमियम स्कीम | सांसद पशुधन बीमा योजना | पशुधन बीमा योजना | पशुधन बिमा कवर

सांसद पशुधन बीमा योजना लागू करें, MP लैम्प बीमा योजना २०२० आवेदन, APL / BPL / SC / ST पशुधन बीमा योजना, मध्य प्रदेश लिंग बीमा योजना फॉर्म, पात्रता और अन्य सभी जानकारीया आपको इस लेख के माध्यम से दी जाएँगी। मध्य प्रदेश सरकार ने पशु पालकों को लिंग की हानि होने पर बीमा कवर देने के लिए ू पशू धन बीमा योजना की की शुरुवात की है। इससे उन्हें पशुओं की अकर्ण मृत्यु होने के नुकसान को कम करने में मदद मिलेगी।

सांसद पशुधन बीमा योजना को मध्य प्रदेश के सभी जिलों में लागू किया गया है और दुधारू पशुओं सहित मवेशियों को इसके अंतर्गत शामिल किया गया है। इस योजना के तहत एक लाभार्थी पांच पशुओं का बीमा करा सकता है। भेड़, बकरी, गाय, भैंस, आदि की श्रेणी में 10 जानवरों को एक इकाई के रूप में गिना जाएगा, इसलिए, पशु मालिक एक बार में लगभग 50 जानवरों का बीमा कर सकते हैं। उपरोक्त गरीबी रेखा (APL) श्रेणी के पशु मालिकों को 50% अनुदान मिलेगा, जबकि गरीबी रेखा से नीचे (BPL), अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) श्रेणी के मालिकों को 70% सब्सिडी मिलेगी।

सांसद पशुधन बीमा योजना 2020

मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के स्वामित्व वाले स्वदेशी मवेशियों के लिए पशू धन बीमा योजना शुरू की है। बीमा प्रीमियम की अधिकतम पास एक साल के लिए 3% और तीन साल के लिए 7.5% राखी है। पशुपालक अपने मवेशियों का एक से तीन साल तक बीमा करा सकते हैं। योजना के अंतर्गत पशु मालिकों को बीमा कंपनी को बीमित मवेशियों की मौत के बारे में 24 घंटे के भीतर सूचित करना होगा। पशुपालन विभाग के डॉ मवेशियों के शरीर का एक शव परीक्षण करते हैं और रिपोर्ट में मौत का कारण बताते हैं। अधिकारियों को एक महीने के भीतर बीमा कंपनी को बीमे की राशि के लिए दावा करना होता है और कंपनी को 15 दिनों में दावा का लाभ मिलता है।

पशु पालको के लिए इंशुरन्स प्रीमियम्टी

विभिन्न श्रेणियों में पशुपालकों को निम्नलिखित आधार पर सांसद पशुधन बीमा योजना बीमा राशि मिलेगी: –

  • गरीबी रेखा से ऊपर की श्रेणी: एपीएल श्रेणी के पशु मालिकों को बीमा प्रीमियम पर 50% अनुदान मिलेगा।
  • गरीबी रेखा से नीचे (BPL) श्रेणी: बीपीएल श्रेणी के पशु मालिकों को बीमा प्रीमियम पर 70% अनुदान मिलेगा।
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति श्रेणी: सभी SC / ST लाभार्थियों को बीमा प्रीमियम पर 70% अनुदान मिलेगा।

यह भी देखें – >> मुख्मंत्री सौर पंप योजना

मप्र लेस्बियन बीमा योजना 2020 का उद्देश्य

मध्य प्रदेश सरकार की पहल एमपी राज्य बीमा योजना 2020 की शुरुआत का मुख्य उद्देश्य दुधारु / गैर दुधारु / अन्य पशुओं की मौत से पशुपालको को होने वाले नुक्सान की दिशा में करना है। और उन्हें होने वाले आर्थिक नुकसान को कम करना है। इस योजना का कार्यान्वयन एमपी लैंप और कुक्कुट विकास निगम के द्वारा किया जा रहा है। भारत सरकार के द्वारा प्रारंभ वर्ष 2014-15 में शुरू की गयी राष्ट्रीय राजधानी मिशन में सुधार द्वारा इसे राज्य के सभी जिलों में शुरू किया जा रहा है।

मध्य प्रदेश लेस्बियन बीमा योजना के तहत सभी प्रकार के पशुओ का (दुधारु देशी / संकर गाय व भैंस, अन्य जानवर जैसे- नर-गौंवंश भैंस वंश / घोडा / दान / उंट / बकरी / भेड / सूद / सवार इत्यादि) को बीमा का लाभ। मिलेगा। यह योजना गरीबी रेखा से ऊपर जीवन-यापन करने वाले अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लिए केंद्र की और से 25%, राज्य की और से 25% और 50% हितग्राही अंशदान पर संचालित की जा रही है। वही गरीबी रेखा से नीचे के हितग्राहियो के लिए केंद्र की और से 40%, राज्य की और से 30% और हितग्राही अंशदान 30% संचालित की जा रही है।

मुद्रा बीमा के तहत इंशुरन्स की अवधि

MP लेस बीमा योजना बीमा प्रीमियम की अधिकतम पास एक साल के लिए 3% और तीन साल के लिए 7.5% होगी। पशुपालक अपने मवेशियों का एक से तीन साल तक बीमा करा सकते हैं।

मध्य प्रदेश लैम्प बीमा का कार्यान्वयन

दुधारू पशुओं सहित मवेशियों को भी इस सांसद पशुधन बीमा योजना 2021 के तहत कवर किया जाएगा।

  • सांसद पशुधन बीमा योजना पात्रता मानदंड
  • आवेदक मध्य परदेश राज्य का निवासी होना चाहिए
  • बीमा कवर के लिए गाय, भैंस, बैल, ऊंट, भेड़, बकरी और सुअर जैसे दुधारू पशुओं सहित मवेशी भी योजना के लिए पात्र हैं।
  • आवश्यक दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • वेटर कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  1. मवेशी मालिकों को बीमा कंपनी को 24 घंटे के भीतर बीमित मवेशियों की मौत के बारे में सूचित करना होगा।
  2. पशुपालन विभाग के डॉ। मवेशियों के शरीर का एक शव परीक्षण करेंगे।
  3. डॉ। फिर एक रिपोर्ट तैयार करेंगे जिसमें मवेशियों की मौत का कारण भी बताया जाएगा।
  4. अधिकारियों को 1 महीने की अवधि के भीतर बीमा कंपनी को बीमा दावा प्रस्तुत करना होगा।
  5. बीमा कंपनी को लिंग बीमा योजना के लाभार्थियों का दावा 15 दिनों में निपटाना होगा।

यह भी देखें – >> सांसद कन्या विवाह योजना

हम उम्मीद करते हैं कि आप एमपी राज्य बीमा योजना से संबंधितित सभी जानकारी मिल गयी होगी और यह आपके लिए ज़रूरी लाभदायक साबित होगा।

अधिक यात्रा के लिए यहाँ

MP लेस बीमा योजना 2021 का लाभ कैसे ले?

एपीएल या बीपीएल या एससी या एसटी वर्ग में से कोई लाभार्थी निचे दी गयी जानकारी द्वारा सांसद पशुधन बीमा योजना 2021 के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं

पशू बीमा योजना में कितने जानवरों का बीमा किया जा सकता है?

पशू बीमा योजना के लाभार्थी प्रत्येक पशु मालिक 5 पशुओं का बीमा कर सकता है। भेड़, बकरी, गाय, भैंस आदि की श्रेणी में लगभग 10 जानवरों को 1 इकाई के रूप में गिना जाता है, इसलिए पशु मालिक एक बार में 50 जानवरों का बीमा कर सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *