PM Kaushal Vikas Yojana | Free Training get Money and Job By Skill India Mission –

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना | प्रधानमंत्री विकास योजना | पीएम मुफ्त प्रशिक्षण योजना | पीएम मुफ्त प्रशिक्षण योजना | कौशल भारत मिशन

मुफ्त में होगी ट्रेनिंग और मिल जाएगा पैसा भी, फिर पाएं नौकरी या करें स्वरोजगार, न काम का प्लान!

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको मुफ्त में प्रशिक्षण और जॉब मिलने जैसी जानकारी देने जा रहे हैं। अगर आप भी नौकरी की बेहोश कर रहे है या कुछ नया कार्य करने की सोच रहे है तो आपके लिए यह काम की जानकारी है। इसका लाभ लेने के लिए इस लेख को पूरा करें।

इस प्रशिक्षण (स्किल इंडिया ट्रेनिंग) के बाद मिलने वाला सर्टिफिकेट पूरे देश में मान्य होता है। यह पूरी तरह से प्रशिक्षण के बाद सरकार पूरी तरह से आर्थिक सहायता करती है, और साथ ही नौकरी पाने में भी मदद करती है।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

आज हम आपको देश के युवाओं की प्राथमिकताएं क्या हैं? उनके लिए बड़ी समस्याएं क्या हैं? कौन सी कठिनाइयों के हैं, जो उनके भविष्य में बाधा उत्पन्न करता है? ये सवाल के मूल में बस दो ही बातें हैं। पहला- उनकी शिक्षा, यहाँ शिक्षा से मतलब वैसी पढ़ाई है, जो उन्हें रोटी दे सके और दूसरी बात नौकरी या स्वरोजगार की है।

आज के इस युग में उच्च शिक्षा के बावजूद जब नौकरी नहीं मिली पाती तो युवा तनाव में रहने लगते हैं। कई सर्वेक्षणों में यह बात सामने आ चुकी है कि युवा अध्ययन तो पूरी तरह से करते हैं। लेकिन उनमें स्किल यानी कौशल नहीं होता है। बड़ी-बड़ी कंपनियां इसी कारण से कैंप के बावजूद उन्हें काम नहीं करतीं। ये सभी कारण से युवा काफी शांत भी रहते हैं और उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पद रहा है। लेकिन साकार ये सभी युवाओ को प्रशिक्षण और रोजगार देने जैसे कार्यक्रम चला रहे है।

इसके विपरीत बड़ी कंपनियां चाहती हैं कि ऐसे कर्मियों को प्रशिक्षण मिले और ऐसे लोगों को काम पर रखें, जिनमें जरूरी स्किल हो। अगर कोई अपना खुद का बिज़नेस करने की सोचता है तो सबसे पहले उन्हें दिक्कत आती है खुद का रोजगार शुरू करने में भी। स्किल न हों तो अपना काम शुरू करना भी मुश्किल हो जाता है।

इन सभी समस्याओं का समाधान सरकार कर रही है- प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्किल इंडिया (कौशल भारत) के नारे के साथ इस योजना की शुरुआत की थी। यह केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं में से एक है। यह योजना कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय की ओर से चलाई जा रही है।

इस योजना का उद्देश्य क्या है? | पीएम कौशल विकास योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य देश के युवाओं को इं डस्ट्री से जुड़ी प्रशिक्षण देना है, और उन्हें रोजगार प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। बाजार में किस सेक्टर में कैसे स्किल की जरूरत है, उसके मुताबिक इसके कार्यक्रम तैयार किए गए हैं। सरकार इस योजना के जरिये कम पढ़े लिखे या 10 वीं, 12 वीं ड्राप आउट यानी पढ़ाई के बीच में स्कूल छोड़ने वाले युवाओं को स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग दे रही है।

सरकार के पास केवल फीस है, और इसमें पैसे भी मिलते हैं। (नि: शुल्क प्रशिक्षण प्राप्त करें कौशल भारत मिशन द्वारा पैसा और नौकरी)

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) में युवाओं को निकटतम प्रशिक्षण केंद्रों पर प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें विशेष बात यह है कि प्रशिक्षण देने वाले संस्थान को फीस का भुगतान भी सरकार ही करती है। यहीं नहीं, प्रशिक्षण पूरा करने पर सर्टिफिकेट तो प्राप्त ही है। साथ में सरकार प्रशिक्षणक्षु युवाओं को लगभग 8000 रु तक की प्रतिष्ठा राशि भी देती है। सरकार का लक्ष्य वर्ष 2020 तक पीएमकेवीवाई के तहत एक करोड़ युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देने का था। हालांकि कोरोना लॉकडाउन के कारण यह काफी हद तक प्रभावित रहा है।

यह भी देखें – >>> प्रधान मंत्री वाणी योजना मुफ्त वाईफ़ाई योजना

कैसे उठाएं PMKVY योजना का लाभ? | पीएम कौशल विकास योजना के लाभ

इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) में आवेदक को अपना पंजीकरण और नामांकन करना जरूरी होता है। इसके लिए आप http://pmkvyofficial.org पर जाकर अपना नाम, पता और ईमेल आदि जानकारी भरनी होती है। और अपना पंजीकरण सही से करना होता है।

Pm कौशल विकास योजना

आवेदन के बाद युवा जो तकनीकी क्षेत्र में प्रशिक्षण करना चाहते हैं, उन्हें चुनना होता है। इस योजना के तहत
कंप्यूटर प्रशिक्षण, इलेक्ट्रॉनिक्स और हार्डवेयर, खाद्य प्रसंस्करण, कंस्ट्रक्शन, फर्नीचर फिटिंग, हैंडीक्राफ्ट, जेम्स एंड ज्वेलरी और लैदर टेक्नोलॉजीज सहित 40 शैक्षणिक बिंदु हैं। अपनी पसंद का एलेज चुनने के अलावा एक अन्य तकनीकी क्षेत्र का भी चयन करना होता है।

इस योजना के तहत सरकारी नौकरी पाने में मदद करती है सरकार, कर सकते हैं स्वोजगार भी

मुख्य योजना में PMKVY योजना 3 महीने, 6 महीने और 1 साल के लिए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम चलाए जाते हैं। प्रशिक्षण पूरी होने के बाद युवाओं का एसएससी द्वारा स्वीकृत मूल्यांकन एजेंसी की ओर से मूल्यांकन किया जाता है। पास होने पर वैध आधार (आधार) नंबर के साथ आपको सरकारी सर्टिफिकेट और स्किल कार्ड मिलता है।

प्रशिक्षण के बाद मिलने वाला सर्टिफिकेट पूरे देश में मान्य होता है। प्रशिक्षण पूरी होने के बाद सरकार आर्थिक सहायता करती है और साथ ही नौकरी पाने में भी मदद करती है। इसके लिए राज्यों में नियोजन विभाग की ओर से जिलावार रोजगार मेले लगाए जाते हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स, फ़र्नीचर, ब्रांडिक्राफ्ट आदि ट्रेड में ट्रेनिंग होने के बाद आप अपना खुद का रोज़गार भी शुरू कर सकते हैं।

यह भी देखे- >> डाकघर बचत योजना

तो देर किस बात की आज ही पंजीकरण करे और पाया नौकरी और अपना खुद का बिज़नेस करने का मौका।
आशा करता हु आपको यह जानकारीअच्छी लगी हो। और आपका कुछ काम आयी हो। अपने मित्रों और आवश्यकता वाले वालो लोगो तक यह जानकारी को साजा करे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *