Tripura Super 30 Scheme | त्रिपुरा सुपर 30 योजना

त्रिपुरा सुपर 30 योजना | त्रिपुरा सुपर 30 | फ्री कोचिंग योजना | त्रिपुरा कोचिंग योजना | कोचिंग छात्रवृत्ति योजना

त्रिपुरा सरकार ने केवी और मेडिकल परीक्षा को को दरार करने छात्रों की मदद के लिए आने वाले 2020 -2021 शैक्षणिक वर्ष से “सुपर 30” शुरुआत करने का फैसला किया है। इस योजना से त्रिपुरा के छात्रों को केवी (आईआईटी / जेईई) क्रैक करने में मदद मिलेगी।
और मेडिकल प्रवेश (एमबीबीएस) परीक्षाएं भी आयोजित की जाती हैं। त्रिपुरा राज्य सरकार ने “सुपर 30” योजना को आरम्भ करने की घोषणा कर रहे हैं।

कोटा में कोचिंग श्रेणियों से चयनकर और उन्हें आगे बढ़ाने के लिए विज्ञान की धारा में कम-से-कम 30 छात्रों को बहुत अच्छी सहायता दी जाती है। लेकिन इस योजना में स्ट्रीम के 12 वी कक्षा के छात्रों को मुफ्त कोचिंग दी जाएगी। यह योजना 2020 -2021 के लिए शुरू की गयी हैं।

त्रिपुरा सुपर 30 योजना

त्रिपुरा सुपर 30 योजना | त्रिपुरा सुपर 30 योजना

सरकार साइंस स्ट्रीम के 12 वी कक्षा के छात्रों को मुफ्त कोचिंग देने जा रही है। इस नई योजना से विज्ञान स्ट्रीम में पड़ने वाले खंडीयो को उनकी प्राथमिकताओं के लिए कोटा में स्थित कोचिंग सेंटरों से कोचिंग लेने में मदद मिलेगी। इन सभी छात्रों का चयन योग्यता के आधार पर किया जाएगा।

यह योजना “सुपर 30” को बहुत ही जोरदार तरीके से शुरू किया गया, जिसमें प्रति छात्र 2.40 लाख रुपये प्रति वर्ष कोचिंग शुल्क हैं। पहला साल सरकार 72 लाख रुपयों का निवेश करेगा। और बाद में 1.44 करोड़ इस योजना के तहत निवेश किए जाएंगे।

यह भी देखें – >> जन आषाढ़ी योजना

त्रिपुरा सुपर 30 मुफ्त कोचिंग योजना / त्रिपुरा सुपर 30 योजना

योजना का नाम त्रिपुरा सुपर 30
में प्रारंभ त्रिपुरा
द्वारा लॉन्च किया गया त्रिपुरा के शिक्षा मंत्री रतनलाल नाथ
लॉन्च की तारीख दिसंबर, 2019
लाभार्थियों राज्य के छात्र

त्रिपुरा सुपर 30 योजना की पात्रता मानदंड / त्रिपुरा सुपर 30 योजना के लिए पात्रता

त्रिपुरा बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (TBSE) ने कहा कि विज्ञान की स्ट्रीम में बोर्ड परीक्षाओं के लिए कुल 3690 छात्र उपस्थित थे। यह बताता है कि की कई छात्र प्रवेश परीक्षाओं के पास करने के लिए कोचिंग सेंटरों के लिए आवेदन करते हैं, जबकि, भारत के कोचिंग सेंटरों में शामिल होने के लिए पेसो की कमी के कारण ज्यादातर छात्र कोचिंग सेंटरों में शामिल नहीं हो पाते हैं। 27,155 छात्र जो बोर्ड परीक्षा के लिए आये थे। इनमें से 13,906 पुरुष छात्र थे और 13,249 बालिका छात्र और इंही ने त्रिपुरा राज्य के स्कूलों में बोर्ड परीक्षा में भाग लिया था।

त्रिपुरा सुपर 30 योजना की पात्रता मानदंड

छात्र त्रिपुरा राज्य का निवासी होना चाहिए।

यह योजना विशेष रूप से पिछड़े वर्ग के छात्रों के लिए है।

छात्रों को विज्ञान स्ट्रीम में उसकी पढ़ाई होनी चाहिए।

12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में छात्रों को उच्च स्कोर करना आवश्यक है।

त्रिपुरा सुपर 30 मुक्त कोचिंग योजना आवेदन प्रक्रिया

योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको त्रिपुरा सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले के साथ इंतजार करना होगा।

त्रिपुरा सरकार ने अभी तक सुपर 30 कोचिंग प्रोग्राम की आवेदन प्रक्रिया से संबंधित घोषणा नहीं की है। यह ऑफ़लाइन या पूर्वी हो सकता है। जल्द ही सरकार इस बारे में खुलासा करेगी कि योजना का लाभ उठाने के लिए छात्र कैसे आवेदन कर सकते हैं।

त्रिपुरा ने अभी तक सुपर 30 कोचिंग प्रोग्राम की आवेदन प्रक्रिया से संबंधित घोषणा नहीं की है। यह ऑफ़लाइन या पूर्वी हो सकता है। जैसे ही योजना के लिए आधिकारिक अधिसूचना लॉन्च की जाएगी हम आपको इस लेख के माध्यम से आपको सूचित करेंगे।

इस योजना का फायदा उठाने के लिए आपको त्रिपुरा राज्य की सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले के साथ इंतजार करना होगा।
त्रिपुरा राज्य की सरकार ने हलाकि अभी तक “सुपर 30” योजना की आवेदन कार्यक्रम से संबंधित घोषणा नहीं की हैं। यह योजना ऑनलाइन या पूर्वी दोनों प्रकार से हो सकती है।

अगर आपको जानकारी अच्छी लगी तो कृपया इसे अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ साझा करें। इसलिए पात्र उम्मीदवार इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *