Working Women Hostel Scheme 2020

कामकाजी महिला छात्रावास योजना | कामकाजी महिला छात्रावास योजना | कामकाजी महिला छात्रावास योजना हिंदी में | कार्यशील महिला छात्रावास योजना के बारे में | कामकाजी महिला छात्रावास योजना ऑनलाइन | कार्यशील महिला छात्रावास योजना पोर्टल

कामकाजी महिला छात्रावास योजना

नमस्कार आज हम आपको भारत में महिलाओ के लिए चलाई गयी एक नई योजना के बारे में विस्तार पूर्वक बताने जा रहा है। जैसा की आप सभी इस बात से भलीभांति अवगत है, की बीते कुछ वर्षो से सरकार निरंतर महिलाओ का विकास । प्रयासरत है। जिसके लिए सरकार अलग-अलग प्रकार की योजना बना रही है।

महिलाओ को आत्मनिर्भरता बनाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों निरंतर प्रयास कर रही है। उन्ही प्रयासों में से एक योजना हैवर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘। इस योजना के द्वारा सभी कामकाजी महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी। ‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम से जुडी सभी जानकारी जैसे यह योजना क्या है? इसका क्या लाभ है? कोण कोण इसका लाभ ले सकते है इत्यादि के बारे में इस आर्टिकल में बताया गया है।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना का उद्देश्य

‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम देश के द्वारा देश की सभी कामकाजी महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी। इस योजना के तहत महिलाओ को सुरक्षित आवास उपलब्ध कराए जाएंगे। इस योजना का मुख्य उदेश्ये महिलाओ को आवास डब्ल्यू सुरक्षा दोनों देना है। ताकि उनकी और उनके बच्चो की देखभाल की सुविधा और आवश्यकता की सभी सामग्री उन तक पहुंच सके। ये योजना देश सभी क्षेत्र जैसे ग्रामीण, शहर और सेमि अर्बन क्षेत्र इत्यादि में फ़ोटोद्ध है। जहाँ महिलाये सुरक्षित रहकर रोजगार कर सकती है।

यह भी जांचें – >>> महिलाओं के लिए सरकारी ऋण योजना 2020 | महिला ऋण योजना

कामकाजी महिला छात्रावास योजना / Women वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम। के लाभ के लाभ

इस योजना के अंतर्गत महिलाओ व् उनके बच्चो को श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है जिसे निचे दर्शाया गया है: –
इस योजना के तहत सभी कामकाजी महिलाये जो एकल, विवाहित, तलाकशुदा, विधवा है या जो किसी दूसरे शहर में जाकर नौकरी करता है, अपने परिजनों से दूर है। इसके आलावा समाज की सभी वंचित वर्ग की लड़कियों या महिलाओ को भविष्यवाणी प्रदान की जाएगी। शारीरिक रूप से कमजोर महिलाओ के लिए इस योजना के तहत सीटों के लिए आरक्षण देने का भी प्रावधान है।
इस योजना के तहत वे महिलाये जो किसी नौकरी के लिए प्रशिक्षण ले रही हो पर बशर्ते आपका प्रशिक्षण की अवधि एक वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए। ये केवल तब ही संभव है जब कामकाजी महिलाये को सीटे मिलने के बाद बची सीटों में नौकरी के लिए प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओ को दी जाति है लेकिन प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओ की सीटों की संख्या 30 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए।
इस योजना के तहत कामकाजी महिलाओ / माता-पिता के 18 वर्ष तक की बालिकाएं और 5 वर्ष तक के लड़को को वो अपने साथ हॉस्टल में रख सकती है साथ साथ साथ वे ही डे-कैर जैसी सेवाएं हैं। का भी लाभ ले सकता है।

कामकाजी महिला छात्रावास योजना की आय सीमा, किराया और रहने की अवधि या वीमेन हॉस्टल स्कीम कम की इनकम लिमिट, रेंट और स्टैम प्रीड

इस योजना के तहत कामकाजी महिलाओ को सुरक्षित आवास प्रदान किया जाता है। लेकिन इसके लिए ये आवशेक है की आवदेक की मासिक आय सकल आय से ज्यादा न हो।
महानगरों जैसे बड़े शहरों में आवेदक महिलाओ की प्रतिमाह 50000 / -मेकित और किसी और जगह पर 35000 / – प्रतिमाह मानसिक आय होना अनिवार्य है।

यदि किसी महिला का प्रमोशन हो जाता है और उनकी आय निर्धारित आय से अधिक बढ़ जाती है तो उन्हें आय बढ़ने के छह महीने के भीतर हॉस्टल खाली हो जाता है करना पड़ता है।

काम करने के संबंध में अधिक जानकारी के लिए महिला छात्रावास योजना

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *